short content

Jaykishan’s Write-ups

Milestone:

One day I was walking by a sea shore, there I saw a little girl building a sand castle.
I asked her, ‘What if, I break your sand castle as soon as its completely builded.’


She did not show any expression of disappointment and said, ‘I have no problem if you break it, hearing this ‘I was shocked and I asked her ‘ Why so?’ She beautifully explained that, it’s just a mud castle, you can break it, but you can’t destroy my determination that took me in building that.


Moral :- Milestone achieved stays forever, it doesn’t matter for much period it existed as long as the satisfaction achieved in attaining is unmeasurable

Loneliness : –

I would’ve preferred the word ‘SOLITUDE’ instead, but some of us don’t feel loneliness as the kind of pleasure.

Human’s are mistaken and they try to fit loneliness with depression.

But let me make it clear that. Loneliness is not a trauma, it’s a surprising opportunity provided to introspect our capabilities of building a realm.

Disappointment : –

Disappointment, according to me is not caused when we know nothing or when we are not capable of attempting something.


It is caused when we know something and we think that someone will judge us and this hinders our growth.

WRITTEN BY : JAYKISHAN ANIL , SURAT.

Instagram profile link of writer : https://www.instagram.com/jaykishananil/

writer’s write-up page link : https://www.instagram.com/the_unsung_pen/

Translation in Hindi:

Milestone: –

एक दिन मैं एक बाई-पास समुद्री किनारे पर था, वहाँ मैंने एक छोटी लड़की को रेत का महल बनाते देखा।

मैंने उससे पूछा, ‘अगर मैं इसके पूरी तरह से निर्मित होते ही तुम्हारे महल को तोड़ दूं।’

उसने निराशा की कोई अभिव्यक्ति नहीं दिखाई और कहा, ‘मुझे कोई समस्या नहीं है यदि आप इसे तोड़ते हैं, तो मैं चौंक गया, मैंने उससे पूछा’ ऐसा क्यों? ‘ उसने मुझे खूबसूरती से समझाया कि, यह सिर्फ एक मिट्टी का महल है, आप इसे नष्ट कर सकते हैं, लेकिन आप उस दृढ़ संकल्प को नष्ट नहीं कर सकते जो मुझे इसमें ले गया।

नैतिक: – मील का पत्थर हमेशा के लिए बना रहता है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह कितनी अवधि के लिए अस्तित्व में था क्योंकि संतुष्टि प्राप्त करने में अजेय है।

Loneliness:-

मैंने इसके बजाय ‘SOLITUDE’ शब्द को प्राथमिकता दी होगी, लेकिन हममें से कुछ लोग अकेलेपन को उस तरह का आनंद नहीं मानते हैं।

मानव की गलती है और वे अवसाद के साथ अकेलेपन को फिट करने की कोशिश करते हैं।

लेकिन मुझे यह स्पष्ट करना चाहिए। अकेलापन एक आघात नहीं है, यह एक आश्चर्य की बात है कि एक क्षेत्र के निर्माण की हमारी क्षमताओं को आत्मसात करने का अवसर प्रदान किया गया है।

Disappointment:-

निराशा, मेरे अनुसार तब नहीं होती है जब यो कुछ नहीं जानते हैं / जब आप कुछ प्रयास करने में सक्षम नहीं होते हैं।

यह तब होता है जब आप सब कुछ / कुछ जानते हैं। लेकिन आप सोचते हैं कि कोई मुझे जज करेगा।

और, इस विचार पर, आपका विकास रुक जाता है !!

If someone wants to publish their write-ups on this website then contact us through this link: https://explorography.com/?page_id=139

This website is open public platform where all the writers show their talent world wide. Also readers can review or give suggestions to the writers through comment section.

Leave a Reply

Your email address will not be published.