हां वो मनुष्य था|

अंधों के आंगन में वो आइना बेचने निकला था,अंधों के आंगन में वो आइना बेचने निकला था।बेहरो की बस्ती में वो संगीत सुनने निकला था,बेहरो की बस्ती में वो संगीत सुनने निकला था।गूंगो के गांव में वो वक्ताओं को ढूंढने निकला था,गूंगो के गांव में वो वक्ताओं को ढूंढने निकला था।हां वो मनुष्य था,हां वो … Read more हां वो मनुष्य था|